facebook-pixel
Featured Advertisement
Think With Niche
Synergy People Management

व्यक्तित्व की परिभाषा, सदाचार से आशा

Synergy People Management

व्यक्तित्व की परिभाषा, सदाचार से आशा

personality-definition-virtue-to-hope

Post Highlights

सदाचार मनुष्य को सहजता से जीवन निर्वाह करने में बहुत मदद करता है। अच्छा व्यवहार हमारे पास उन लोगों को हमेशा मौजूद रखता है, जो हमें दिल से इज्ज़त देते हैं। हम कह सकते हैं कि सदाचार हमें कभी मानसिक रूप से अकेला नहीं रहने देता है। मनुष्य के व्यक्तित्व की परिभाषा ही सदाचार होता है। जिसे हमें संभाल कर रखना चाहिए।

दुनिया अनेक प्रकार की प्रजातियों का घर है, सबका अपना व्यवहार होता है और अपनी एक छोटी सी दुनिया। प्रत्येक जीव अपनी प्रवृत्ति के अनुसार ही अपने वातावरण को बनाने की कोशिश करता है तथा उसके आधार पर वह अपना जीवन निर्वाह करता है। इन प्रजातियों में मनुष्य वह प्रजाति है जिसने सदियां बदलने के साथ अप्रतिम परिवर्तन किया। इसका कारण यह है कि मनुष्य की सोचने की क्षमता तथा सही और ग़लत में फर्क करने का हुनर उसका मुख्य हथियार रहता है। मनुष्य के पास यह एक ऐसा हथियार है जो किसी और के पास नहीं है। सही तथा गलत में अंतर कर पाने की कला ही मनुष्य को समाज का निर्माण और उसको सुचारू रूप से चलाने का हक़ देती है। यहीं से मनुष्य का व्यक्तित्व एक आकार लेता है। यदि व्यक्ति ऐसे परिपेक्ष से काम करता है तथा अपने व्यवहार को इस तरह रखता है, जिससे सबका भला हो तो वह समाज का आदर्श बनता है। उसके व्यक्तित्व की परिभाषा सदाचार की आशा को जन्म देती है।

हमारा व्यक्तित्व ही वह रास्ता है जिससे हम औरों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। सदाचार वह किताब है जिसे समझ पाना और उसके अर्थों को अपने जीवन में शामिल कर पाना सबके बस की बात नहीं होती है, परंतु जिसने इसे अपना लिया वह दुनिया के दिल को जीत लेता है अर्थात वह सबको हमेशा के लिए प्रिय हो जाता है। अच्छा व्यवहार हमें लोगों के ज़हन में हमेशा के लिए उनकी स्मृति में सजीव रखता है।

अच्छा व्यवहार लाता लोगों को करीब

हमनें अक्सर यह ध्यान दिया होगा कि हमारे साथ वही लोग रहना पसंद करते हैं, जिनके प्रति हम अपना व्यवहार विनम्र रखते हैं। कई बार हमारे अच्छे संबंध भी इस कारण बिगड़ जाते हैं, क्योंकि हम उनके प्रति अपने व्यवहार को बदल देते हैं और उनके साथ बुरा बर्ताव करने लगते हैं। कारण कुछ भी हो परन्तु यह आचरण किसी से भी रिश्ते अच्छे नहीं रहने देता। हम उन लोगों को बिल्कुल पसंद नहीं करते जो हमारे साथ अशिष्ट व्यवहार करते हैं। इससे हम यह समझ सकते हैं कि अच्छे व्यवहार को अपने जीवन में हमें अवश्य शामिल करना चाहिए।

मुश्किल में सदाचार बनता सहायक

कभी-कभी हमारे जीवन में परिस्थिति इतनी कठिन हो जाती है, जब हमें अन्य लोगों की सहायता की आवश्यकता होती है। जब हम मुश्किल समय में होते हैं और हम उम्मीद करते हैं कि इस परिस्थिति में हमारे साथ कोई नैतिकता के तौर पर ही हमारी हिम्मत बनें, वह भले ही हमें उस परिस्थिति से ना निकाल पाए, परन्तु उससे लड़ने का हौंसला ज़रूर दे। ऐसे समय में हमारा अच्छा व्यवहार ही हमारे लिए सहायक होता है। हमारे पास हौसला अफजाई के लिए उन लोगों कि लंबी लाइन लग जाती है, जिनके साथ हम अच्छे से बर्ताव करते हैं। वह अपनी सक्षमता के अनुरूप आर्थिक, शारीरिक और मानसिक रूप से हमारे साथ खड़े रहते हैं। इन लोगों की उपस्थिति के कारण ही हम मुश्किल से मुश्किल दौर को पार कर ले जाते हैं। 

सदाचार मनुष्य को सहजता से जीवन निर्वाह करने में बहुत मदद करता है। अच्छा व्यवहार हमारे पास उन लोगों को हमेशा मौजूद रखता है, जो हमें दिल से इज्ज़त देते हैं। हम कह सकते हैं कि सदाचार हमें कभी मानसिक रूप से अकेला नहीं रहने देता है। मनुष्य के व्यक्तित्व की परिभाषा ही सदाचार होता है। जिसे हमें संभाल कर रखना चाहिए।

दुनिया अनेक प्रकार की प्रजातियों का घर है, सबका अपना व्यवहार होता है और अपनी एक छोटी सी दुनिया। प्रत्येक जीव अपनी प्रवृत्ति के अनुसार ही अपने वातावरण को बनाने की कोशिश करता है तथा उसके आधार पर वह अपना जीवन निर्वाह करता है। इन प्रजातियों में मनुष्य वह प्रजाति है जिसने सदियां बदलने के साथ अप्रतिम परिवर्तन किया। इसका कारण यह है कि मनुष्य की सोचने की क्षमता तथा सही और ग़लत में फर्क करने का हुनर उसका मुख्य हथियार रहता है। मनुष्य के पास यह एक ऐसा हथियार है जो किसी और के पास नहीं है। सही तथा गलत में अंतर कर पाने की कला ही मनुष्य को समाज का निर्माण और उसको सुचारू रूप से चलाने का हक़ देती है। यहीं से मनुष्य का व्यक्तित्व एक आकार लेता है। यदि व्यक्ति ऐसे परिपेक्ष से काम करता है तथा अपने व्यवहार को इस तरह रखता है, जिससे सबका भला हो तो वह समाज का आदर्श बनता है। उसके व्यक्तित्व की परिभाषा सदाचार की आशा को जन्म देती है।

हमारा व्यक्तित्व ही वह रास्ता है जिससे हम औरों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। सदाचार वह किताब है जिसे समझ पाना और उसके अर्थों को अपने जीवन में शामिल कर पाना सबके बस की बात नहीं होती है, परंतु जिसने इसे अपना लिया वह दुनिया के दिल को जीत लेता है अर्थात वह सबको हमेशा के लिए प्रिय हो जाता है। अच्छा व्यवहार हमें लोगों के ज़हन में हमेशा के लिए उनकी स्मृति में सजीव रखता है।

अच्छा व्यवहार लाता लोगों को करीब

हमनें अक्सर यह ध्यान दिया होगा कि हमारे साथ वही लोग रहना पसंद करते हैं, जिनके प्रति हम अपना व्यवहार विनम्र रखते हैं। कई बार हमारे अच्छे संबंध भी इस कारण बिगड़ जाते हैं, क्योंकि हम उनके प्रति अपने व्यवहार को बदल देते हैं और उनके साथ बुरा बर्ताव करने लगते हैं। कारण कुछ भी हो परन्तु यह आचरण किसी से भी रिश्ते अच्छे नहीं रहने देता। हम उन लोगों को बिल्कुल पसंद नहीं करते जो हमारे साथ अशिष्ट व्यवहार करते हैं। इससे हम यह समझ सकते हैं कि अच्छे व्यवहार को अपने जीवन में हमें अवश्य शामिल करना चाहिए।

मुश्किल में सदाचार बनता सहायक

कभी-कभी हमारे जीवन में परिस्थिति इतनी कठिन हो जाती है, जब हमें अन्य लोगों की सहायता की आवश्यकता होती है। जब हम मुश्किल समय में होते हैं और हम उम्मीद करते हैं कि इस परिस्थिति में हमारे साथ कोई नैतिकता के तौर पर ही हमारी हिम्मत बनें, वह भले ही हमें उस परिस्थिति से ना निकाल पाए, परन्तु उससे लड़ने का हौंसला ज़रूर दे। ऐसे समय में हमारा अच्छा व्यवहार ही हमारे लिए सहायक होता है। हमारे पास हौसला अफजाई के लिए उन लोगों कि लंबी लाइन लग जाती है, जिनके साथ हम अच्छे से बर्ताव करते हैं। वह अपनी सक्षमता के अनुरूप आर्थिक, शारीरिक और मानसिक रूप से हमारे साथ खड़े रहते हैं। इन लोगों की उपस्थिति के कारण ही हम मुश्किल से मुश्किल दौर को पार कर ले जाते हैं। 

सदाचार मनुष्य को सहजता से जीवन निर्वाह करने में बहुत मदद करता है। अच्छा व्यवहार हमारे पास उन लोगों को हमेशा मौजूद रखता है, जो हमें दिल से इज्ज़त देते हैं। हम कह सकते हैं कि सदाचार हमें कभी मानसिक रूप से अकेला नहीं रहने देता है। मनुष्य के व्यक्तित्व की परिभाषा ही सदाचार होता है। जिसे हमें संभाल कर रखना चाहिए।