कैसे शुरू करें गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस ?

Share Us

5549
कैसे शुरू करें गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस ?
22 Apr 2023
8 min read

Blog Post

सिर्फ बिज़नेस की दृष्टि से ही नहीं बल्कि भारत में सोने के कई पारंपरिक महत्व भी हैं। भारत में सोने को निवेश और बचत का माध्यम भी माना जाता है। अक्सर लोग त्योहारों  जैसे अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya पर  भी सोने की जमकर खरीदारी करते हैं। इसके अलावा शादी के सीजन में तो भारत में सोने की डिमांड शिखर पर पहुंच जाती है।

इसलिए यहाँ पर सोने का बिज़नेस करना काफी फायदेमंद है। इंडिया के अन्दर इतना ज्यादा सोना नही है और यही वजह है कि दूसरे देशो से सोना इंडिया के अन्दर एक्सपोर्ट किया जाता है। आज इंडिया के बहुत सारे लोग गोल्ड का बिजनेस करते हैं।

इंडिया में Gold का बिज़नेस कई तरह से होता है जैसे बहुत से लोग से gold की शॉप खोलकर पैसे कमाते है और और बहुत से सोना आयात निर्यात व्यापार Gold Import Export Business करते हैं।

सोने चांदी का बिज़नेस करने के लिए आपको बहुत दिमाग लगाने की जरुरत पड़ती है। अगर आप इसमें जरा सी भी गलती करते हैं तो आपको इस बिज़नेस में बहुत नुकसान झेलना पड़ सकता है।

अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya पर सोना खरीदने की परंपरा है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोना खरीदने से यह  जीवन में समृद्धि लाता है। तो अक्षय तृतीया के इस शुभ अवसर चलिए इस आर्टिकल के द्वारा विस्तार से जानते हैं कि कैसे आप गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। How to start Gold Import Export Business?

 

देखा जाये तो भारत में सोने की डिमांड Gold Demand में तेजी देखने को मिली है हाँ ये बात सच है कि महामारी के दौरान भले ही इसकी डिमांड कम हुई थी, लेकिन बाद में फिर से लोग सोने की खरीदारी बढ़ाने लग गए थे। साल 2021 के आंकड़ों को देखें तो भारत का सोना आयात (Gold Import) एक दशक के उच्च स्तर पर पहुंच गया था। भारत में लोग सोने के आभूषणों को खरीदना हद से भी ज्यादा पसंद करते हैं।

चाहे आदमी हो या औरत दोनों को सोने से बने गहने पहनना पसंद है। सोने चांदी के गहने पहनने से लोगो में एक अमीरी का भाव पैदा होता है। इस कारण लोग अपने शरीर पर सोने चांदी के गहने पहनना और खरीदना पसंद करते हैं।

यही वजह है कि सोने चांदी का बिजनेस करना एक बहुत ही फायदेमंद बिजनेस हो गया है। भारत आभूषणों के लिए दुनिया के सबसे बड़े बाजारों में से एक है। इसके अलावा, भारत में सोने का सबसे बड़ा आयात है।

रत्न और आभूषण क्षेत्र भारतीय सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 6-7% योगदान देता है, जिससे यह एक सफल क्षेत्र बन जाता है। कुछ लोग सोने चांदी को शेयर मार्किट की तरह खरीदते हैं। वो लोग सस्ते दामो में सोने को खरीद कर महंगे दाम होने पर बेचते हैं। जिसकी वजह से सोने का बिजनेस एक बहुत सफल बिजनेस में से एक है।

भारत में सोने के आभूषण का व्यवसाय बहुत ही तेजी से फल फूल रहा है। यानि भारत में एक फलता-फूलता मध्यम वर्ग और बढ़ती अर्थव्यवस्था के साथ, आने वाले वर्षों में सोने की मांग में और वृद्धि होना तय है। इसलिए, आने वाले वर्षों में आभूषण व्यवसाय में बहुत अधिक संभावनाएं lot of potential in the jewelery business हैं।

तो चलिए आज इस आर्टिकल में हम भारत में सोने के आभूषण व्यवसाय यानि Gold Import Export Business गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस शुरू करने की प्रक्रिया के बारे में जानेगे। 

कैसे शुरू करें गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस ? How to start Gold Import Export Business?

गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस के लिए क्या जरूरी चीजे चाहिए What are the Requirements for Gold Import Export Business?

गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस के लिए जरुरी चीज़ें चाहिए होती हैं। सबसे पहले आपको एक ऑफिस की जरुरत होती है। यह आप पर निर्भर करता है कि ये बिज़नेस आप घर से शुरु कर रहे हैं या फिर दुकान किराए पर लेकर।

इसके अलावा जो सबसे जरुरी चीज़ है वो है Marketing मार्केटिंग। मार्केटिंग के बाद बिजली की सुविधा, पानी की सुविधा (Electricity, water facilities) आदि का भी आपको ध्यान रखना होगा। साथ ही इसके लिए GST Number और लाइसेंस भी चाहिए। 

गोल्ड इम्पोर्ट एक्सपोर्ट बिजनेस के लिए लागत Investments For Gold Import Export Business 

इस बिज़नेस में निवेश इस Business के Office पर निर्भर करता है क्योकि इसमें यदि आप बड़ा Business शुरु करते हैं तो ज्यादा इन्वेस्टमेंट Investment करनी पड़ती है और वहीं छोटा बिज़नेस शुरु करते है तो उसमें कम इन्वेस्टमेंट (Investment) करनी पड़ती है।

अगर आपका खुद का Office है तो आपको ज्यादा इन्वेस्टमेंट की जरुरत नहीं पड़ेगी। वहीं यदि आप Office किराये पर लेते है तो उसमें आपको इन्वेस्टमेंट (Investment) ज्यादा करनी पड़ेगी। इसके अलावा आपको लाइसेंस License के लिए भी इन्वेस्टमेंट करना पड़ेगा। 

गोल्ड बिजनेस के नियम Rules for Opening a Firm

गोल्ड बिजनेस में एक निर्यात फर्म शुरू करने के लिए आपको कुछ नियमों को जानना जरुरी है। सबसे पहले, आपको प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप, लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप, प्राइवेट कंपनी, लिमिटेड कंपनी, ट्रस्ट, रजिस्टर्ड सोसाइटी Proprietorship, Partnership, Limited Liability Partnership, Private Company, Limited Company, Trust, Registered Society और एचयूएफ के रूप में बिजनेस को चुनना होगा और फिर बिजनेस को रजिस्टर्ड कराना होगा।

साथ ही निर्यात संचालन करने का तरीका आपको चुनना है जैसे – निर्माता निर्यातक, एक व्यापारी निर्यातक या व्यापारी सह निर्माता निर्यातक के रूप में। फर्म को माल और सेवा कर विभाग, भारत के साथ Register करना भी आवश्यक होता है।

Also Read: कम पैसों में शुरू करें ये 4 फूड बिज़नेस

खाता खोलना, लाइसेंस Account Opening, License

आपको Business फर्म के नाम पर एक खाता खोलना होगा। यह निर्यात कारोबार के लिए फर्म के लिए कानूनी लाइसेंस होगा। IEC के लिए एक आवेदन https://dgft.gov.in/CP/ IEC Profile Management पर ANF 2A के अनुसार ऑनलाइन दायर किया जाता है।

साथ ही विदेशी मुद्रा में व्यापार करने के लिए open a current account with the designated bank अधिकृत बैंक के साथ एक चालू खाता खोलना होगा। बैंक द्वारा सीमा शुल्क के साथ पंजीकरण करने के लिए एक अधिकृत डीलर कोड (एडी कोड) जारी किया जाता है।

डॉक्यूमेंट Document 

Personal Document (PD) :- Personal Document में निम्न डॉक्यूमेंट हैं-

  • Bank Account 
  • ID Proof - Aadhaar Card , Pan Card , Voter Card
  • Address Proof :- Ration Card , Electricity Bill ,
  • Photograph Email ID , Phone Number ,
  • Other Document
  • बिजनेस Document 

बिजनेस डॉक्यूमेंट के अंदर निम्न डॉक्यूमेंट आते हैं -

  • Business Registration
  • Business pan card
  • GST Number

डिसपैच, कस्टम क्लीयरेंस और शिपमेंट Dispatch, Custom Clearance and shipment 

इसमें अंतिम चरण शिपमेंट भेजना है। पैकिंग के बाद आप माल को पारगमन के लिए बंदरगाहों या हवाई अड्डों पर भेज सकते हैं। प्रत्येक बंदरगाह पर सभी कस्टम नियमों और प्रक्रियाओं Custom rules and procedures का पालन करना आवश्यक है।

अपने शिपमेंट बिल के मुद्दों को प्राप्त करने के बाद आप शिपमेंट बिलों के लिए क्लियरिंग हाउस एजेंट (CHA) भी रख सकते हैं। बस अब निकासी के बाद आपका माल निर्यात के लिए तैयार है। एक बार आपका शिपमेंट निर्यात हो जाने के बाद, आपको शिपमेंट के लिए भुगतान प्राप्त होगा।

ये सब चीज़ें आपको ध्यानपूर्वक करनी होंगी। इसमें खातों का भी सावधानीपूर्वक प्रबंधन करना है। सोने के निर्यात व्यवसाय में आपको काफी सावधानी रखनी होगी। साथ ही आपको लेखांकन प्रक्रिया को सही तरीके से करने की आवश्यकता है। बहुत ही सावधानी से व्यवसाय के लेखांकन लेनदेन को ट्रैक और प्रबंधित करें। 

कस्टम नियम Custom Rules

EDI सिस्टम AD कोड के बिना शिपिंग बिल बनाने की अनुमति नहीं देता है। आपको यह याद रखना जरुरी है कि यह कस्टम नियम है कि निर्यात माल की निकासी के लिए शिपिंग बिल दाखिल करने से पहले सीमा शुल्क से एक पैन-आधारित व्यवसाय पहचान संख्या (बीआईएन) Business Identification Number (BIN) प्राप्त करनी चाहिए।

निर्यातकों को अनिवार्य रूप से संबंधित निर्यात संवर्धन परिषदों/एफआईईओ/कमोडिटी बोर्ड/ द्वारा प्रदान किया गया पंजीकरण सह सदस्यता प्रमाणपत्र (आरसीएमसी) प्राप्त करना आवश्यक है। आपकी फर्म को समुद्री और हवाई बीमा कवर Marine and air insurance cover के लिए किसी बीमा कंपनी को भी आवेदन करना चाहिए।

गोल्ड स्टॉक्स में निवेश करने से पहले विचार करने योग्य बातें Things to Consider Before Investing In Gold Stocks

सोना कोई सस्ती वस्तु नहीं है, इसलिए एक गलत निर्णय आपकी मेहनत की कमाई को खो सकता है। यदि आप भारत में सोने के शेयर खरीदने पर विचार कर रहे हैं या पहले से ही कुछ के मालिक हैं, तो निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखें:

  • अपनी निवेश रणनीति तय करें Decide Your Investment Strategy

गोल्ड स्टॉक्स में निवेश तीन तरीकों में से एक में किया जा सकता है: सीधे गोल्ड माइनिंग फर्मों  gold mining firms के माध्यम से, गोल्ड एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड्स gold exchange-traded funds के माध्यम से, या गोल्ड म्यूचुअल फंड्स gold mutual funds के माध्यम से। खरीदारी करने से पहले, स्वतंत्र शोध करके इनमें से प्रत्येक तौर-तरीके के लाभों और कमियों की जांच करना महत्वपूर्ण है।

  • समय के साथ चलते रहो Keep Up With the Times

अपने निवेशों को पूरी तरह से समझने के लिए, आपको वर्तमान घटनाओं के साथ बने रहना चाहिए।

  • किसी विशेषज्ञ से सलाह लें Consult an expert

निवेश करते समय अभिभूत महसूस करना सामान्य है, जो आपके द्वारा चुने गए निवेश को प्रभावित कर सकता है। हालांकि वित्तीय परामर्शदाता को नियुक्त करने में थोड़ा अधिक खर्च हो सकता है, वे उच्चतम रिटर्न प्राप्त करने में आपकी सहायता करने में सक्षम हो सकते हैं।

  • कर लाभ Tax Benefits

इसके अतिरिक्त, सोने के शेयरों में कुछ कर लाभ हैं। एसबीआई गोल्ड फंड जैसे फंडों को गैर-इक्विटी उत्पादों के रूप में माना जा सकता है। प्रारंभिक निवेश के एक वर्ष बीत जाने के बाद, गोल्ड स्टॉक्स को दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ के लिए बेचा जा सकता है।

  • छोटा शुरू करो Begin Small

आप गोल्ड स्टॉक्स में थोड़ा निवेश करके शुरुआत कर सकते हैं। जरूरी नहीं है कि आपके पास पहले से ही काफी पैसा बचा हो। इसके बजाय, धीरे-धीरे शुरू करें और उत्तरोत्तर विस्तार करें क्योंकि यह आपके लिए अधिक व्यावहारिक हो जाता है।

भारत में सर्वश्रेष्ठ गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक्स best gold investment stocks in India

भारत में सर्वश्रेष्ठ गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक्स के बारे में जानने से पहले हमें समझना होगा कि गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक्स क्या होते हैं। गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक्स वे स्टॉक होते हैं जिनमें निवेशक गोल्ड से संबंधित कंपनियों में निवेश करते हैं। यह कंपनियां आमतौर पर गोल्ड खनन, रिफाइनरी, स्थानांतरण और वितरण के क्षेत्र में काम करती हैं।

गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक्स वे स्टॉक होते हैं जिनमें निवेशक गोल्ड से संबंधित कंपनियों में निवेश करते हैं। यह कंपनियां आमतौर पर गोल्ड खनन, रिफाइनरी, स्थानांतरण और वितरण के क्षेत्र में काम करती हैं। भारत में कुछ सर्वश्रेष्ठ गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक्स निम्नलिखित हैं।

1. टाइटन कंपनी Titan Company

टाइटन कंपनी भारत की अग्रणी समर्थक कंपनियों में से एक है। यह भारत में अनेक ब्रांडों के एक श्रृंखला के बाद ताजा पानी वाली घड़ियों, ज्वेलरी, परफ्यूम, स्किन केयर उत्पादों, जूते और स्पोर्ट्स उपकरणों जैसे उत्पादों का उत्पादन करती है।

2. मुथुट फाइनेंस लिमिटेड Muthoot Finance Limited

मुथुट फाइनेंस लिमिटेड भारत की एक अग्रणी गोल्ड फाइनेंस कंपनी है। यह वित्तीय सेवाएं, सामाजिक कार्य, फाइनेंस समाधान और फाइनेंसियल टेक्नोलॉजी क्षेत्रों में काम करती है।

3. राजेश एक्सपोर्ट Rajesh Export

राजेश एक्सपोर्ट एक अन्य भारतीय गोल्ड इन्वेस्टमेंट स्टॉक है। यह गोल्ड ज्वेलरी के निर्माण और निर्यात में विशेषज्ञ है। यह कंपनी विभिन्न देशों में गोल्ड ज्वेलरी उत्पादकों के लिए भारत से सामग्री आयात करती है और अपने उत्पादों को विभिन्न देशों में निर्यात करती है।

4. मनप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड Manappuram Finance Limited

मनप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड भी एक अग्रणी गोल्ड फाइनेंस कंपनी है जो भारत में स्थित है। यह फाइनेंस सेवाएं जैसे कि स्वर्ण ऋण, गैर-बैंकिंग फाइनेंस सेवाएं, स्वर्ण खरीद और स्वर्ण निवेश समाधान प्रदान करती है।

5. वैभव ग्लोबल Vaibhav Global

वैभव ग्लोबल एक भारतीय ज्वेलरी कंपनी है जो विभिन्न विश्वसनीय ब्रांडों की गोल्ड ज्वेलरी बनाती है। इसके अलावा, यह समर्थन सेवाएं भी प्रदान करती है जैसे विवाह, समारोह और अन्य खुशी के अवसरों के लिए ज्वेलरी के डिजाइन करना।

6. कल्याण ज्वेलर्स Kalyan Jewelers

कल्याण ज्वेलर्स एक और भारतीय ज्वेलरी कंपनी है जो स्वर्ण आभूषण उत्पादन और विक्रय करती है। यह एक लोकप्रिय ब्रांड है और विभिन्न राज्यों में अपनी शाखाएं रखती है। इसकी उत्पादन योग्यता बहुत उच्च है और उनके उत्पादों की गुणवत्ता बहुत अच्छी है।

इन स्टॉक्स में निवेश करने से पहले ध्यान देने योग्य बातें: Things to consider before investing in these stocks:

  • निवेश के फैसले से पहले, स्टॉक कंपनी के इतिहास, पूर्व दरें और वर्तमान वित्तीय स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करना चाहिए।

  • स्टॉक मार्केट के उछल-कूद के बारे में समझ रखना चाहिए। निवेशकों को यह समझना आवश्यक है कि बाजार के उतार-चढ़ाव के दौरान अधिक नुकसान हो सकते हैं।

  • निवेशकों को एक विशेषज्ञ सलाहकार से बातचीत करना चाहिए जो उन्हें बेहतर निवेश फैसले लेने में मदद कर सकता है।

अगर आप निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं, तो निवेश से पहले अपने वित्तीय परिस्थितियों और निवेश की योग्यता को ध्यान में रखना चाहिए। वित्तीय सलाहकार की सलाह लेने से पहले, निवेश की योग्यता, निवेश राशि, निवेश की अवधि और निवेश के माध्यमों के बारे में विचार करना चाहिए।

इन स्टॉक्स के बारे में समझौता करने से पहले, निवेशकों को इन कंपनियों की नियमित रूप से निकली जाने वाली रिपोर्टों, उनकी फाइनेंशियल स्थिति, उनकी बढ़ती हुई ट्रेंड और बाजार की स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करनी चाहिए। एक विशेषज्ञ सलाहकार की सलाह भी ली जा सकती है जो निवेशकों को निवेश के लिए सही फैसले लेने में मदद कर सकता है।

सोचविचार करने के बाद अगर आप निवेश करने का फैसला लेते हैं, तो आपको बाजार की निगरानी और अपने निवेश के स्थिति की निगरानी नियमित रूप से करनी चाहिए।

डिस्क्लेमर 

ऊपर दी गई जानकारी केवल निवेशकों को संदर्भ के लिए प्रदान की गई है। हम सलाह नहीं देते हैं या इन स्टॉक्स में निवेश की जिम्मेदारी नहीं लेते हैं। हमारा उद्देश्य यहां सिर्फ निवेश से संबंधित जानकारी प्रदान करना है। निवेश से संबंधित किसी भी प्रकार के नुकसान के लिए हम ज़िम्मेदार नहीं होंगे।

इसलिए, निवेश करने से पहले, आपको अपनी वित्तीय परिस्थितियों को ध्यान में रखना चाहिए और उचित सलाह लेनी चाहिए। निवेश के बाद भी, आपको निवेश की स्थिति की निगरानी नियमित रूप से करनी चाहिए। बाजार में निवेश करने के बारे में आपके लिए यह जानकारी सिर्फ एक मार्गदर्शन है और निवेश के लिए विभिन्न विकल्पों को विश्लेषण करने के बाद अपना अंतिम निर्णय लेना आपकी ज़िम्मेदारी होगी।

You May Like

EDITOR’S CHOICE

TWN In-Focus